May 18, 2024 11:38 am

Search
Close this search box.
Search
Close this search box.

Home » Uncategorized » “राजीव गांधी की मिस्टर क्लीन छवि थी, वही हम पीएम मोदी में देख रहे हैं”: अजित पवार 

“राजीव गांधी की मिस्टर क्लीन छवि थी, वही हम पीएम मोदी में देख रहे हैं”: अजित पवार 

Facebook
Twitter
WhatsApp

महाराष्ट्र के डिप्टी CM अजित पवार ने पूर्व पीएम राजीव गांधी की तुलना मौजूदा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से की है। अजित ने कहा, राजीव गांधी को ‘मिस्टर क्लीन’ के नाम से जाना जाता था और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की भी वही इमेज है।

पिछले महीने NCP को तोड़कर भाजपा-शिवसेना सरकार में शामिल होने वाले पवार ने मंगलवार को पुणे में एक कार्यक्रम में यह बात कही।

अजित बोले- मोदी जैसा लोकप्रिया नेता दूसरा नहीं
पवार ने आगे कहा, हम पिछले 9 साल से पीएम मोदी का काम देख रहे हैं। इंटरनेशनल लेवल पर मोदी जैसी लोकप्रियता वाला कोई दूसरा नेता नहीं है।

बुनियादी ढांचे के मामले में उन्होंने जो काम किया है, उसे देखिए, भारत को दुनिया में अलग तरह का सम्मान मिलता है। अजित ने यह भी कहा, इंदिरा गांधी को भी इसी तरह का सम्मान मिलता था, जब वह दूसरे देशों का दौरा करती थीं।

मोदी के काफिले का लोग करते हैं स्वागत
पीएम मोदी को मंगलवार को लोकमान्य तिलक पुरस्कार दिया गया था। यह कार्यक्रम पुणे में आयोजित किया गया था। जिसमें महाराष्ट्र के दोनों डिप्टी सीएम और सीएम शामिल हुए।

अजित ने कहा, जब मोदी का काफिला गुजर रहा था तो पुणे के लोगों ने सड़कों के दोनों ओर खड़े होकर उनका स्वागत किया। मैं और देवेन्द्र जी (डिप्टी सीएम देवेन्द्र फड़नवीस) काफिले में एक ही कार में थे। कार्यक्रम स्थल तक मोदी की यात्रा के दौरान हमने कोई काला झंडा नहीं देखा।

पीएम मोदी देश में अच्छा माहौल बनाने की कर रहे कोशिश

यही नहीं पवार ने मणिपुर मामले पर पीएम मोदी की तीखी प्रतिक्रिया की प्रशंसा की। पवार बोले, कोई भी प्रधानमंत्री कानून-व्यवस्था की दृष्टि से देश में अच्छा माहौल बनाने के बारे में सोचेगा।

मणिपुर में जो कुछ भी हो रहा है, उसका किसी ने समर्थन नहीं किया। प्रधानमंत्री ने मामले का संज्ञान लिया है। भारत के मुख्य न्यायाधीश ने भी संज्ञान लिया है। केंद्र और मणिपुर सरकार यह सुनिश्चित कर रही है कि 3 मई की घटना (जहां दो महिलाओं को निर्वस्त्र कर घुमाया गया) के दोषियों को सजा मिले।

पवार ने कहा, मोदी दिन में 18 घंटे काम करते हैं। उन्होंने कहा, दिवाली के दौरान, जबकि देश के बाकी लोग घर पर दिवाली मनाते हैं, वह इसे सीमा पर सेना के जवानों के साथ मनाते हैं।

PM ने कहा कि लोकमान्य तिलक भारत के स्वतंत्रता इतिहास के माथे के तिलक हैं। देश की आजादी में उनकी भूमिका, उनके योगदान को कुछ घटनाओं और शब्दों में नहीं समेटा जा सकता है। उन्होंने कहा कि मैं इस अवॉर्ड को 140 करोड़ देशवासियों को समर्पित करता हूं।

Sanskar Ujala
Author: Sanskar Ujala

Leave a Comment

Live Cricket

ट्रेंडिंग